इन 7 टिप्स को अपनाने से खूब होगी धन की वर्षा, हल्के में न लें इनको - News Vision India

Breaking

18 Apr 2017

इन 7 टिप्स को अपनाने से खूब होगी धन की वर्षा, हल्के में न लें इनको


पैसा कमाना जितना मुश्किल काम है, उतना ही मुश्किल सेविंग करना है। यदि आप भी सेविंग नहीं कर पाते हैं तो अपनी कुछ आदतों को चेंज कर दें। फाइनेंशियल एडवाइजर संदीप शुक्ला बताते हैं कि हम जितना कमाते हैं, उसका यूज स्मार्टली करें तो सेविंग की जा सकती है। 

लाइफ में कुछ चीजें तय कर ली जाए तो सेविंग करना इतना भी मुश्किल नहीं है। आज जानेंगे कुछ ऐसी हैबिट के बारे में, जिन्हें फॉलो करने के बाद फाइनेंशियल प्रॉब्लम में फंसने से बचा जा सकता है।
अगली स्लाइड्स में जानें 7 हैबिट के बारे में….
कमाई से ज्यादा खर्च करते हैं तो तुरंत ये हैबिट चेंज कर लें। फाइनेंशियल स्थिति कैसी है? इसे देखते हुए ही खर्च करना चाहिए। कभी भी अपनी अर्निंग से ज्यादा खर्चा न करें। समझदारी से पैसा खर्च करने में आपको परेशानी नहीं होगी। ऐसे में सोच-समझ कर ही खर्च करें।

मोबाइल बिल से लेकर क्रेडिट कार्ड तक के बिल को पे करने के लिए लास्ट डेट का वेट न करें। कई बार हम बिल पे करने के लिए कलेक्शन एजेंसी के कॉल का इंतजार करते हैं। आप भी ऐसा करते हैं तो तुरंत संभल जाएं।

क्रेडिट कार्ड का यूज हमेशा इमरजेंसी में ही करें। फिजूलखर्ची के लिए इसका यूज न करें। क्रेडिट कार्ड होने पर बिना सोचे-समझे लोग पैसा खर्च करते हैं जिससे उनका पूरा बजट प्लान बेकार हो जाता हैं। क्योंकि क्रेडिट कार्ड पर बैंकिग कंपनियां बहुत ज्यादा इंटरेस्ट लेती हैं। इसलिए हमेशा इसके बिल को समय पर ही पे कर दें।

इन्वेस्ट करना एक स्किल है। पैसों को इन्वेस्ट करने के मामले में लोग बहुत जल्दी कन्फ्यूज हो जाते हैं। इन्श्योंरेस पॉलिसी ले रहे हैं तो कितना पैसा डिडक्ट होगा, कितना फायदा होगा। इसी तरह कई लोग कहीं भी इन्वेस्ट कर देते हैं। यदि आप भी बिना सोचे-समझे कहीं निवेश कर रहे हैं तो एक्सपर्ट की सलाह लेना न भूलें। खुद की स्किल को डेवलप करें, ताकि इन्वस्टेमेंट घाटे का सौदाा साबित न हो।

सेविंग करने के लिए अब पुरानी हैबिट्स को भूल जाइए। अब स्मार्टफोन के जरिए ही आप मिनटों में सेविंग कर सकते हैं। बिल पेमेंट के लिए ऑटोमैटिक ट्रांसफर का यूज करें। सेविंग अकाउंट से आप सीधे मनी सेव कर सकते हैं। सेविंग अकाउंट में आपका पैसा है तो इसे स्वैप एफडी में डाल सकते हैं यहां से इंटरेस्ट ज्यादा मिलेगा।
जितना समय आप अपनी सैलरी कम होने की कम्प्लेंट करने में लगाते हैं, उतना टाइम उसे किस तरह बढ़ाया जा सकता है इस बारे में सोचने में लगाएं। अपने इम्प्लॉयर से सैलरी बढ़ाने के लिए नेगोशिएशन करें। यदि इससे भी कुछ नहीं हो रहा तो नई इंडस्ट्री की जरूरतों के हिसाब से खुद की स्किल्स डेवलप करके आप जम्प ले सकते हैं।

फूड के लिए आप होटल, रेस्टारेंट या ऑफिस की कैंटीन पर डिपेंड रहने की आदत बदलें। घर से फूड ले जाने पर आप एक बड़ा अमाउंट सेव कर सकते हैं। बाहर खाना खाने पर हम जितना सोचते हैं, उससे भी कहीं ज्यादा खर्च हो जाता है।

No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages