52 लाख करोड़ रुपए का एनपीए घोटाला :- प्रधानमंत्री - News Vision India

Breaking

21 Feb 2018

52 लाख करोड़ रुपए का एनपीए घोटाला :- प्रधानमंत्री

Pm Speech In House
52 लाख करोड़ रुपए का एनपीए घोटाला :-  प्रधानमंत्री
जनता जरा सोच के देखे कितने  जीरो होते है 52 लाख करोड़ में,
ये वो जीरो है जो जनता को मिले है वोट के बदले, सही सरकार नही चुनने के चलते

जब सरकार ने ये सच किसी को बताया ही नही था, तो बजट तो अपने आप में सवाल खड़े करता है, 
साथ ही इतना बड़ा घोटाला कल शेयर मार्केट में न जाने कैसी परस्थिति को जन्म देगा 

 सदन में नीरव मोदी के द्वारा किए गए पंजाब नेशनल बैंक के 11500 करोड रुपए के घोटाले पर सफाई देते हुए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस सरकार के कार्यकाल के वह काम गिनवा दिए जो आज तक उनके द्वारा देश के हित में नहीं कहे गए थे, देश के प्रधानमंत्री ने बताया कि 2008 में जब कांग्रेस की सरकार बनी थी तब एन पी ए घोटाला 18 लाख करोड़ रुपए था,  और जो  2014 तक, यह घाटा 52 लाख करोड़ रुपए तक बढ़ चुका था मौजूदा भाजपा सरकार की इस विषय में 4 साल तक चुप्पी रही है, 36% का  घोटाला प्रतिशत वास्तविकता में 82 % था,  

फिलहाल कांग्रेस सरकार नीरव मोदी और पंजाब नेशनल बैंक घोटाले पर राजनीतिक लाभ लेने के लिए लगातार प्रयास कर रही है,  उस प्रयास को कमजोर करने के लिए भारत के प्रधानमंत्री ने 4 साल से लगातार इस मामले में रख रखी चुप्पी को तोड़ा और कांग्रेस कार्यकाल में बैंक घोटाले पर एक आश्चर्यजनक राशि का उल्लेख कर पूरे देश को सदमे में डाल दिया

जरा एक बार गौर फरमाइए कि यह  राशि को अगर डिवाइड किया जाए तो प्रति व्यक्ति कितना दर निर्धारित होता है 52,00,000,0000000 / 1250000000  =  41600 रुपया प्रति व्यक्ति की डर निकलती है 

यूपीए सरकार के अंतर्गत 2जी स्पेक्ट्रम घोटाला, कोलगेट घोटाला,  आदर्श सोसाइटी घोटाला ,  राफेल घोटाला, इत्यादि इन सबको इकट्ठा कर दिया जाए  तो प्रति आम आदमी की दर लगभग 5 लाख निकलेगी, जो  फिलहाल पिछली सरकारों की लापरवाही और लालच के कारण देश को नुकसान सहना पड़ा है

यह सभी जानते हैं कि इस तरह के घोटालों पर कभी कोई शिकंजा कोई भी सरकार नहीं कसने वाली है आरोप-प्रत्यारोप का यह सिलसिला सदन की परंपरा बन चुका है जो चलता रहेगा और जनता को आश्वासन पर आश्वासन हर नए चुनाव समय पर प्रतिनिधियों की ओर से मिलते रहेंगे और इन घोटालों में लगातार इजाफा होता रहेगा,  जिस पर आम आदमी का कार्यवाही के लिए न कोई अधिकार है और ना ही कोई रास्ता है और ना ही इस तरह के घोटालों पर इमानदारी पूर्वक जांच करने वालों की जहां पर उपलब्धि है

आज के घोटाले पर मरहम लगाते हुए देश के प्रधानमंत्री ने यूपीए सरकार के घोटालों की गिनती करवा दी, 
फिलहाल भाजपा सरकार की घोटाले में हो रही छवि ख़राब को किसी प्रकार संतुलित करने का प्रयास हमारे देश के प्रधानमंत्री की ओर से किया गया है और आश्वासन दिया है कि इसमें पूरी जांच की जाएगी और  कोई बचेगा नहीं,  अब देखना है कि जनता को यह आश्वासन, आश्वासन के रूप में ही मिलेगा या दोषियों को सजा भी होगी


No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages