68 साल से पिंपलोद ग्रामवासियो ने नहीं मनाई होली - News Vision India

Breaking

4 Mar 2018

68 साल से पिंपलोद ग्रामवासियो ने नहीं मनाई होली


पिंपलोद यह गांव अमरावती से 70 किलोमीटर कि दूर, दर्यापुर से लगभग 20 किलोमीटर दूरी होकर इस गांव की आबादी लगभग 6500 हजार बताई गई है।

इस पिंपलोद गांव में संत श्री परशराम महाराज 1932 से 1935 के दशक के दरमियान से गांव में अचानक आकर रहने लगे थे। 
संत ने अनेको चमत्कार भी दिखाए , साथ ही इस गांव में परशराम महाराज केमंदिर में गौतम बुद्ध , दत्तात्रेय,व पीर बाबा की दर्गाह भी एक ही जगह दिखाई देती है।

तो यहाँ सभी जातियों व धर्म के भक्त आते दिखायी देते हैं।
यहाँ एकता का प्रतिक यह दिखता है।

इनकाजन्मदिन - प्रगट दिन वैशाख पूर्णिमा 1900 में हुआ । जिसे अब बुद्ध पुर्णिमा कहते हैं।

होली पौर्णिमा संत श्री परशराम महाराज का साल 1951 को मृत्यु हो गया ।

इस दिन से अबतक 68 हुए हैं। लेकिन अभीतक यहाँ की ये परंपरा पिंपलोद ग्रामवासीयो ने टूटने नही दी है।

यह होली पूर्णिमा का दिन इस पिंपलोद गांव में कोई भी गांवनिवासी  होली नही मनाते हैं।और इस दिन ग्राम में कोई भी पेड़ो की कटाई नही करता साथ ही रंगोली भी नही खेलते हैं।

इस गांव में इस संत की ऐसी घटना हुई करके यहाँ यह होली का त्यौहार मनाया नही जाता है । जिससे एक ओर से देखा जाये तो पर्यावरण संरक्षण हो रहा है।

बाइट - 1) देशमुख - ग्रामवासी 2) प्राचार्य राजेश वाघजाले - ग्रामवासी
  
प्रवीण झोलेकर न्यूज़ विज़न अमरावती महाराष्ट्र 

Also Read: तुरंत जाने, आपके आधार कार्ड का कहां-कहां हुआ इस्तेमाल https://goo.gl/ob6ARJ

Please Subscribe Us At:
WhatsApp: +91 9589333311

#NoHoliCelebrationsFrom68Years, #NewsVisionIndia, #LatestHindiNews,


No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages