मध्य प्रदेश राज्य अधिवक्ता परिषद् ने ली हड़ताल वापस, अध्यक्ष और सचिव की अलग अलग राय - News Vision India

Breaking

11 Apr 2018

मध्य प्रदेश राज्य अधिवक्ता परिषद् ने ली हड़ताल वापस, अध्यक्ष और सचिव की अलग अलग राय

मध्य प्रदेश राज्य अधिवक्ता परिषद् ने ली हड़ताल वापस

अध्यक्ष और सचिव की अलग अलग राय

किस बात पे कैसे  ख़त्म हुयी है हड़ताल इसकी  जानकारी नही दी गयी है :- मनीषा मिश्र  (सचिव )

आदर्श मुनि त्रिवेदी :-   स्टेट बार काउंसिल मध्यप्रदेश ने अधिवक्ताओं के साथ किया विश्वासघात. पहले से ही कुछ गड़बड़ और घपला नजर आ रही थी. हड़ताल में कौन सी व्यक्तिगत डिमांड पूरी हो गयी, स्टेट बार अध्यक्ष की, हमे तो नही बतायाहम हड़ताल में पहले शामिल नही थे फिर हड़ताल कैसी, हम तो स्टेट बार के सम्मान के तले विरोध नही किया, ये तो सीधा विश्वासघात है हमारे साथ 

अधिवक्ताओ के संगठन का सहयोग ले कर समिति अपने व्यक्तिगत लाभ प्राप्त कर रही है, कानूनन व्यवस्था को बिगड़ने का काम स्वयं इन्ही के द्वारा किया जा रहा है, जिन्होंने पत्रकार  वार्ता में एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने  की बात की और न्यायाधीशों को पदस्त करने  की बात की, इन्होने खुद अपने ही अधिवक्ता सदस्यों के सहयोग का दुरूपयोग किया हैये प्रयास भोत पहले से जरी है और रिजल्ट शून्य है

एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट का फॉर्मेट कब किसी कहा सौंपा गया अधिवक्ताओ को कोई जानकारी नही की स्टेट बार ने, फिर उसपे क्रीयांवन कैसे होगा, कब होगा कोऊं जिम्मेदार है ऐसी कोई जानकारी अधिवक्ताओं को परिषद् के द्वारा नही डी गयी है, पारदर्शी निष्पक्ष कार्यवाही की भी जा रही है की नही, फिह्लाल जानकारी के अभाव में कहना मुश्किल है.
रजिस्ट्रार जनरल मध्यप्रदेश हाईकोर्ट ने पत्र लिखकर दिया था अधिवक्ताओं को बातचीत करने का न्योता
तब स्टेट बार कौंसिल नए सिरे से बात करने का न्योता अस्वीकार कर दिया और कहा था कि हमारी हड़ताल 14 तारीख तक जारी रहेंगी

Also Read:
तुरंत जाने, आपके आधार कार्ड का कहां-कहां हुआ इस्तेमाल https://goo.gl/ob6ARJ

महिला प्रिंसिपल छात्र को घर बुला जबरन शारीरिक संबंध बनाती थी, अब हुई फरार

डिजिटल वैश्यावृत्ति, सोशल मीडिया बना आधार इस काले धंधे का पुलिस ने किया खुलासा

जो महिलाएं जींस पहनती हैं वे किन्नर बच्चे को जन्म देती और चरित्रहीन होती है

सिंधियों को बताया पाकिस्तानी, छग सरकार मौन, कभी मोदी ने भी थी तारीफ सिंधियो की

Please Subscribe Us At:
WhatsApp: +91 9589333311
                                                                                                                                                  
#AdvocatesAngryOnStrikeCallOffByStateBarCouncilMadhyaPradesh, #NewsVisionIndia, #HindiNewsHighCourtJabalpurSamachar,

No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages