वर्चुअल ID नंबर का हो सकेगा इस्तेमाल, Aadhar नंबर की जगह - News Vision India

Breaking

4 Apr 2018

वर्चुअल ID नंबर का हो सकेगा इस्तेमाल, Aadhar नंबर की जगह

Virtual ID Number Against Aadhaar Number
मूल सवाल: क्या डाटा चोरी होने से बच सकेगा?

नई दिल्ली। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआइडीएआई) ने बहुप्रतीक्षित वर्चुअल आइडी का बीटा वर्जन जारी कर दिया है। प्राधिकरण पहले ही कह चुका है कि सत्यापन के उद्देश्य से सेवा प्रदाताओं के लिए एक जून, 2018 से आधार नंबर के स्थान पर इसे स्वीकार करना अनिवार्य होगा। साफ है कि अब अब कई सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए आधार नंबर नहीं देना होगा।

निजता संबंधी चिंताओं को दूर करने के लिए यूआइडीएआइ ने जनवरी में वर्चुअल आइडी की अवधारणा पेश करने का एलान किया था। सरल शब्दों में कहें तो इस नए फीचर से आधार धारक को प्रमाणीकरण और सत्यापन के लिए 12 अंकों का अपना आधार नंबर बताने की बजाय सिर्फ 16 अंकों का वर्चुअल आइडी (वीआइडी) नंबर ही बताना होगा। यूआइडीएआइ के मुताबिक, यूजर अपनी वीआइडी खुद ही जनरेट कर सकेंगे।

क्या है वीआईडी

आधार वर्चुअल आइडी एक तरह का अस्थायी नंबर है। इस नंबर को आधार का क्लोन कहा जाए तो यह गलत नहीं होगा। इसमें कुछ ही विवरण होंगे। अगर किसी को कहीं अपने आधार का विवरण देना है तो वह आधार नंबर की जगह वीआइडी नंबर दे सकता है।

कहां से जनरेट होगा वीआईडी

आधार वर्चुअल आइडी को सिर्फ यूआइडीएआई के पोर्टल से ही जनरेट किया जा सकता है। यह एक डिजिटल आइडी होगी। आधार धारक इसे कई बार जनरेट कर सकते हैं। वीआइडी की वैधता सिर्फ एक दिन के लिए ही होगी। इसका मतलब हुआ कि एक दिन बाद आधार धारक इस वर्चुअल आधार आइडी को फिर से जनरेट कर सकता है।

ऐसे जनरेट करें वीआईडी

- वीआइडी जनरेट करने के लिए यूआइडीएआइ के होमपेज पर जाएं।

- अब अपना आधार नंबर डालें। इसके बाद सिक्योरिटी कोड डालें और सेंड ओटीपी पर क्लिक कर दें।

- जिस मोबाइल नंबर से आपका आधार रजिस्टर्ड होगा, उसी मोबाइल नंबर पर आपको ओटीपी भेजी जाएगी।

- ओटीपी डालने के बाद आपको नई वीआइडी जनरेट करने का विकल्प मिल जाएगा।

- जब यह जनरेट हो जाएगी तो आपके मोबाइल पर आपकी वर्चुअल आईडी भेज दी जाएगी। यानी 16 अंकों का नंबर आ जाएगा।

वीआईडी से क्या होगा

- यह आपको सत्यापन के समय आधार नंबर को साझा नहीं करने का विकल्प देगी।

- वर्चुअल आइडी से नाम, पता और फोटोग्राफ जैसी कई चीजों का सत्यापन हो सकेगा।

- कोई यूजर जितनी चाहे, उतनी वर्चुअल आइडी जनरेट कर सकेगा।

- पुरानी आइडी अपने आप निरस्त हो जाएगी।

- अधिकृत एजेंसियों को आधार कार्ड धारक की ओर से वर्चुअल आइडी जनरेट करने की अनुमति नहीं होगी।

Also Read:
तुरंत जाने, आपके आधार कार्ड का कहां-कहां हुआ इस्तेमाल https://goo.gl/ob6ARJ

सिंधियों को बताया पाकिस्तानी, छग सरकार मौन, कभी मोदी ने भी थी तारीफ सिंधियो की
Kelly’s Restaurant की ग्राहकों से अवैद वसूली, खानें से पहलें सोचें एक बार https://goo.gl/xsEdy9

Please Subscribe Us At:
WhatsApp: +91 9589333311
                                                                                                                                                  
#VirtualIDNumberAgainstAadhaarNumber, #NewsVisionIndia, #HindiNewsAadhaarIndiaSamachar,

No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages