Special Report: कभी सिलाई केंद्र चलाने वाली गिरिजा त्रिपाठी आखिर कैसे बनी इतनी ताकतवर और रसूखदार - News Vision India

Breaking

10 Aug 2018

Special Report: कभी सिलाई केंद्र चलाने वाली गिरिजा त्रिपाठी आखिर कैसे बनी इतनी ताकतवर और रसूखदार

Devaria Shelter Home Girija Tripathi Success Details

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में एक सिलाई केंद्र चलाने वाली सामान्य महिला गिरिजा त्रिपाठी आखिर इतनी ताकतवर कैसे बन गई. उसके ताल्लुकात बड़े लोगों से बताए जाते हैं लेकिन आखिर ये बड़े लोग हैं कौन?

शेल्टर होम की मैनेजर गिरिजा त्रिपाठी का जन्म खुखुंडू थाना इलाके के रूपाई गांव में हुआ था. उनकी शादी देवरिया के नूनख्वार गांव के मोहन त्रिपाठी से हुई थी. मोहन भटनी शुगर मिल में एक छोटा कर्मचारी था जबकि गिरिजा अपनी आर्थिक स्थित ठीक करने के लिये सिलाई केंद्र चलाती थी.

गिरिजा को अपनी ताकत का एहसास तब हुआ जब भटनी शुगर मिल के प्रबंधन से उसने अपने पति की नौकरी के लिये संघर्ष किया. भटनी के रहने वाले राजेश कुमार ने बताया कि शुगर मिल की आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण मोहन की नौकरी चली जाने का खतरा उत्पन्न हो गया तब गिरिजा ने मिल प्रबंधन के खिलाफ जबरदस्त धरना प्रदर्शन किया और आखिर में मिल प्रबंधन को झुकना पडा.

भटनी में प्रौढ शिक्षा केंद्र बनने पर वह प्रशासनिक अधिकारियों के संपर्क में आई और वह प्रौढ लोगों को प्रशिक्षण भी देने लगी. बाद में देवरिया चली आयी और यहां रेलवे स्टेशन रोड पर मां विन्ध्यवासिनी सेवा संस्थान नामक शेल्टर होम और स्वंय सेवी संस्था चलाने लगी.

करीब दो दशक तक गिरिजा ने काफी पैसा कमाया और उसने गोरखपुर में एक वृद्ध आश्रम खोल दिया, इसके अलावा देवरिया के राजला इलाके और रेलवे स्टेशन रोड पर शेल्टर होम भी चलता रहा.

अब उसकी बड़ी बेटी कनकलता फिलहाल पुलिस हिरासत में है. वह जिला प्रोबेशन अधिकारी गोरखपुर में संविदा पर काम करती है. उसका बेटा अध्यापक है. छोटी बेटी कंचनलता देवरिया के शेल्टर होम की अधीक्षिका थी.

गिरिजा के देवरिया में शेल्टर होम खोलने के साथ ही उसके काफी रसूखदार लोगों से संबंध हो गये. इसके सबूत वह फोटोग्राफ हैं जिनमें वह नेताओं और अधिकारियों के साथ दिख रही है.

उसकी स्वंय सेवी संस्था का लाइसेंस लाइसेंस 2017 में समाप्त हो गया था इसके बावजूद प्रशासन उसे अनेक सरकारी कार्यक्रमों में आमंत्रित करता रहा. इस साल नौ फरवरी में आयोजित सामूहिक विवाह कार्यक्रम में भी उसे बुलाया गया था.

Also Read:
इस खुलासे से मचा हड़कंप, नेताओं और अधिकारियों के घर भेजी जाती थीं सुधारगृह की लड़कियां https://goo.gl/KWQiA4
तुरंत जाने, आपके आधार कार्ड का कहां-कहां हुआ इस्तेमाल https://goo.gl/ob6ARJ

मेरा बलात्कार या हत्या हो सकती है: दीपिका सिंह राजावत, असीफा की वकील

हनिप्रीत की सेंट्रल जेल में रईसी, हर रोज बदलती है डिजायनर कपड़े

माँ ही मजूबर करती थी पोर्न देखने, अजीबोगरीब आपबीती सुनाई नाबालिग लड़की ने

सिंधियों को बताया पाकिस्तानी, छग सरकार मौन, कभी मोदी ने भी थी तारीफ सिंधियो की

Please Subscribe Us At:
WhatsApp: +91 9589333311
                                                                                                                                                  
#DevariaShelterHomeGirijaTripathiSuccessDetails, #NewsVisionIndia, #IndiaNewsHindiSamachar,  #CrimeagainstWoman,

No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages