लावारिश हाल में मिला वृद्ध की देखरेख में तत्परता से जुटा अंकुरण फाउंडेशन - News Vision India

Breaking

9 Sep 2018

लावारिश हाल में मिला वृद्ध की देखरेख में तत्परता से जुटा अंकुरण फाउंडेशन

Ankuran Foundation Helping Old Man Sultanpur Uttar Pradesh
जथा: नामे तथा: गुडे पर चल रही है जनपद की अंकुरण फाउंडेशन

सुलतानपुर । दो दिन पहले पंत स्टेडियम के पास एक वृद्ध लावारिश बेसुध धूल मिट्टी में सने भूखे प्यासे पड़ा था,अंकुरण फाउंडेशन के सदस्यों को जानकारी हुई तो पूरी युवा टीम वहां पहुँची। वृद्ध दादा जी को अंकुरण फाउंडेशन की युवा टीम ने वहाँ से उठाया और नहलाया धुलाया,मल साफ किया ,, दादा जी को पूरी तरह साफ किया और उन्हें साफ कपड़े पहनाये।।

इसके बाद अंकुरण फाउंडेशन की देखरेख में बाबा जी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।।
जहां सदस्यों द्वारा भोजन कराने के बाद जब दादा जी से उनका नाम पूछा गया तो उन्होंने अपना नाम राम आसरे ,,पुत्र का नाम गुरु प्रसाद बताया। बाकी कोई जानकारी देने में असमर्थ रहें.

रजत कुमार ने बताया अंकुरण फाउंडेशन की पूरी टीम जब तक दादा जी के घर का पता न चलता उनकी देखभाल करेगा.

इस कार्य मे युवा टीम से सत्यम मिश्रा, अनुराग श्रीवास्तव, रजत कुमार,आदर्श सिंह, सौरभ प्रकास, दीपक , शोभित शुक्ला, मुकेश , प्रदीप, आरिफ खान, आदित्य अग्रहरी, प्रतीक सिंह ,प्रज्ज्वल, मनीष, मनमोहित , शेखर , कुलदीप आदि कई लोग लगें हुए है।

रिपोर्ट अमन वर्मा स्टेट कोआडिरनेटर न्यूज विजन उत्तर प्रदेश

Also Read:
इस खुलासे से मचा हड़कंप, नेताओं और अधिकारियों के घर भेजी जाती थीं सुधारगृह की लड़कियां https://goo.gl/KWQiA4
तुरंत जाने, आपके आधार कार्ड का कहां-कहां हुआ इस्तेमाल https://goo.gl/ob6ARJ

मेरा बलात्कार या हत्या हो सकती है: दीपिका सिंह राजावत, असीफा की वकील

हनिप्रीत की सेंट्रल जेल में रईसी, हर रोज बदलती है डिजायनर कपड़े

माँ ही मजूबर करती थी पोर्न देखने, अजीबोगरीब आपबीती सुनाई नाबालिग लड़की ने

सिंधियों को बताया पाकिस्तानी, छग सरकार मौन, कभी मोदी ने भी थी तारीफ सिंधियो की

Please Subscribe Us At:
WhatsApp: +91 9589333311
                                                                                                                                                  
#AnkuranFoundationHelpingOldManSultanpurUp, #NewsVisionIndia, #IndiaNewsHindiSamachar, 

No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages