देवरी से राम की मांग हुयी तेज, अन्य पार्टियों ने की सेटिंग चालू , टारगेट पे है जीत का चेहरा, Congress v/s Bjp की जंग हुयी तेज - News Vision India

Breaking

22 Oct 2018

देवरी से राम की मांग हुयी तेज, अन्य पार्टियों ने की सेटिंग चालू , टारगेट पे है जीत का चेहरा, Congress v/s Bjp की जंग हुयी तेज



कई वर्षों तक विद्यार्थी परिषद के संगठन मंत्री में कार्यरत जमीनी स्तर के संघ के कार्यकर्ता राम पटेल जो नियमित निवासी ग्राम सिंहपुर गंजन तहसील देवरी जिला सागर, विधानसभा देवरी, जिला सागर से है, जिन्हें चुनाव लड़ने-लड़ाने, जीतने-जिताने में महारत हासिल है, जिन्हें आसाम में विधानसभा चुनाव के दौरान 12 विधानसभाओं का कार्यभार सौंपा गया था, जिसमें से 8 विधानसभाओं को जिताने में सफलता, इस युवा नेता राम पटेल ने प्राप्त की थी,

जिस पर संतुष्ट होकर संगठन के द्वारा किसी विशेष प्रयोजन हेतु राम पटेल को मध्य प्रदेश में ग्रह ग्राम में वापस भेजा है, फिलहाल देवरी से कांग्रेस के विधायक हैं, और मध्य प्रदेश में फिलहाल भाजपा की भी हालत पतली है, वर्तमान भाजपा पदाधिकारी और टिकट बांटने वाले पदाधिकारियों के बीच बड़ी असमंजस की स्थितियों का निर्माण हो चुका है, अपने अपने स्तर पर सभी के द्वारा सर्वे कराए जा कर जीत और हार के क्षेत्रों को चिन्हित किया जाना शुरू किया जा चुका है, जिसमें से जबेरा और देवरी विधानसभा जो कि दोनों विधानसभा में कांग्रेस के कैंडिडेट के द्वारा जीत दर्ज की गई है जो अभी मुख्य रूप से एक मजबूत अनुभवी युवा दावेदार को निहार रही है,

जिसमें की भाजपा को दोबारा अपनी कन्नी काटने का रुझान समझ में आ रहा है, जिसके चलते संगठन के कुछ लोगों के द्वारा कराए गए सर्वे के उपरांत भी अभी तक किसी अनुभवी और जीत दर्ज करने वाले चेहरे को सुनिश्चित नहीं किया गया है, इसी दौरान विपक्षी पार्टियों ने भाजपा के ही अनुभवी युवा नेताओं को अपनी तरफ करने का प्रयास तेज कर दिया गया है, धनबल से और बाहुबल से सभी प्रकार से यह प्रयास तेज हो चुके हैं, आने वाले समय में यह राजनीति किस युवा चेहरे को कहां ले जाने में सफल होती है, यह निर्भर करता है पार्टी के पदाधिकारियों के कौशल पर

     बहरहाल अभी 20 से ज्यादा उम्मीदवार देवरी से अपना दावा भारतीय जनता पार्टी में पीट रहे हैं, 

परंतु पार्टी इस वर्ष किसी भी प्रकार से रिस्क लेने के मूड में नहीं है, तथा पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ समन्वय मिलाकर चुनाव लड़ने के पक्ष में है, तथा जो भी पुराना कार्यकर्ता सक्रिय पदाधिकारी इस चुनाव को जीतने-जिताने में पार्टी के प्रति अपनी वफादारी सिद्ध नहीं कर पाता उनकी राजनीति को भविष्य में खतरा भी हो सकता है, जिससे क्रुद्ध होकर कुछ लोग निर्दलीय चुनाव लड़ने की भी घोषणा कर सकते हैं, परंतु पार्टी किसी स्तर पर कोई कमप्रोमाइज करने तैयार नही है, पार्टी को केवल आम जनता का पसंदीदा चेहरा चाहिए और साथ ही वह युवा के साथ साथ अनुभवी भी होना चाहिए, जिसमें देवरी विधानसभा से राम पटेल का नाम सबसे आगे चल रहा है, परंतु यह प्रयास भाजपा की ओर से देरी करता है, तो कहीं कांग्रेस का फायदा उठाकर भाजपा के इरादे ना तोड़ दे.




No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages