बिल्डिंग के गुप्त कमरे से अफसर की शह पर चला रहा था समानांतर ऑफिस - News Vision India

Breaking

24 Feb 2018

बिल्डिंग के गुप्त कमरे से अफसर की शह पर चला रहा था समानांतर ऑफिस


UP का युवक RTO बिल्डिंग के गुप्त कमरे से अफसर की शह पर चला रहा था समानांतर ऑफिस

 रतलाम - बीते कुछ माह से रतलाम का ‌आरटीओ कार्यालय भ्रष्टाचार का अड्‌डा बना हुआ है। कानपुर का एक युवक जिसे सारे दलाल पंकजसिंह के नाम से पुकारते हैं, वह आरटीओ बिल्डिंग के एक गुप्त कमरे से समानांतर दफ्तर चला रहा है। दलालों की सारी फाइलें पहले खुद जांचता है, फिर हिसाब (रुपए) लेता है और आखिर में आरटीओ के दस्तखत करवाने भी खुद ही जाता है। यह शख्स जितनी बार गुप्त कमरे में दाखिल होता है और बाहर निकलता है उतनी ही बार दरवाजे का ताला खोलता है और लगाता भी है। गुरुवार को उसकी यह कारगुजारियां  कैमरे में कैद हो गईं।


हमारे शहर के आरटीओ में बढ़ती दलाली, चलता रुपया और अफसरों के बजाय एवजी की सत्ता 

न्यूज़ विज़न के इस  सवाल पर आरटीओ से कुछ बोलते नहीं बना

इस शख्स की फेसबुक पर पंकज सिंह नाम से आईडी बनी हुई है। फोटो भी उसी वॉल से। 

बाईट जाया वसावा- आरटीओ जाया वसावा इससे इंकार करते हुए कहती हे की इस मामले में वह कुछ नहीं जानती कई लोग आते जाते हे 

कारगुजारियां जो कैमरे में कैद हुईं

आरटीओ वसावा से जब सामने खड़े पंकज को लेकर सवाल किए गए तो वे बुरी तरह चौंक गईं। पहले तो उन्हें कुछ सूझा नहीं, फिर धीरे से बोलीं कि ये आरटीओ के एम्प्लॉई नहीं हैं। एक आउट साइडर महीनों से फाइलों की जांच कैसे कर रहा है? सवाल पर सिर्फ इतना कहा- उन्हें कुछ देखना होगा इसलिए फाइल देख ली होगी। वसावा के पास इस बात का भी कोई ढंग का जवाब नहीं था कि चार-पांच महीनों से गुप्त रूप में पंकज आरटीओ में किसके कहने पर सरकारी काम निपटा रहा है। 

स्टिंग के बाद डरीं आरटीओ, फरमान जारी किया- दलालों को बाहर खदेड़ो 

पंकज की कारगुजारियों के स्टिंग के बाद आरटीओ ने फरमान जारी किया जितने भी दलाल कैंपस में हैं उन्हें बाहर खदेड़ो। होमगार्ड जवानों के साथ कर्मचारी दलालों को बाहर करने में जुट गए। इसके बाद पंकज भी आरटीओ कार्यालय से बाहर आ गया। उससे संपर्क करने का प्रयास किया लेकिन कॉल अटैंड नहीं किया। आरटीओ को भी भास्कर ने लगातार कॉल किए लेकिन वे भी कॉल अटैंड नहीं कर पाईं। 

पहले वाला आरटीओ गुप्ता भी चला रहा था समानांतर दफ्तर, दर्ज हुआ था मुकदमा

बीते साल फरवरी में तत्कालीन प्रभारी आरटीओ राजेश गुप्ता के खिलाफ दलाल विनोद झालानी के साथ समानांतर आरटीओ चलाने के मामले में पुलिस ने केस दर्ज किया था। दलाल के यहां से कई सील, गाड़ियों के निजी रजिस्ट्रेशन कार्ड, लर्निंग लाइसेंस, पक्के ड्राइविंग लाइसेंस, मप्र शासन के हॉलोग्राम, फिटनेस, परमिट, आरटीओ की अहम फाइलें व आपत्तिजनक दस्तावेज जब्त किए थे। गुप्ता, उनके कर्मचारी व एजेंट झालानी के विरुद्ध धारा 419, 420, 467, 468, 472, 34 में प्रकरण दर्ज किया था.                                        
Please Subscribe Us At:

WhatsApp: +91 9589333311


#FraudEmployeeRatlamRTO, #NewsVisionIndia, #LatestHindiNews, 

No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages