बैंक कर्मचारी 30 व 31 मई को रहेंगें हड़ताल पर, लोगो की सैलरी देर से आएगी - News Vision India

Breaking

30 May 2018

बैंक कर्मचारी 30 व 31 मई को रहेंगें हड़ताल पर, लोगो की सैलरी देर से आएगी

Bankers On Strike For Salary Hike

अगर आप जरूरी काम से बैंक जाने की सोच रहे हैं तो उसे आज ही निपटा लीजिए क्योंकि अगले दो दिन तक देश भर के बैंकों की हड़ताल है. बैंकों की इस हड़ताल से लोगों की इस महीने की सैलरी देरी से आ सकती है. साथ ही एटीएम से लेनदेन (ट्रांजैक्शन) पर भी इसका असर पड़ने की आशंका है.

बैंक कर्मचारी अपने वेतन में बढ़ोतरी की मांग को लेकर 30 और 31 मई को हड़ताल पर जाने वाले हैं. ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कनफेडरेशन के महासचिव डीटी फ्रैंको ने करीब 10 लाख बैंक कर्मचारियों के इस हड़ताल में शामिल होने की संभावना जताई है. सरकार और इंडियन बैंक असोसिएशन (आईबीए) के अड़ियल रवैये के खिलाफ यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन ने यह हड़ताल बुलाई है.

इस राष्ट्रव्यापी हड़ताल में सभी सरकारी (राष्ट्रीयकृत) बैंक, प्राइवेट बैंक और कुछ विदेशी बैंक भी शामिल होंगे. आईबीए ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के कर्मचारियों की सैलरी में केवल 2 फीसदी की वृद्धि का पेशकश की है, जिसका बैंक कर्मचारी संघों ने विरोध किया है.

सोमवार को एडिश्नर चीफ लेबर कमिश्नर राजन वर्मा ने बैंक यूनियन से बातचीत कर हड़ताल को टालने के लिए समन्वय बनाने की कोशिश की लेकिन उनकी यह कोशिश नाकाम साबित हुई. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, केनरा बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा समेत कई अन्य बैंकों ने इस संभावित हड़ताल के बारे में अपने ग्राहकों को पूर्व सूचना दे दी थी.

'यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन' के संयोजक देवीदास तुलजापुरकर ने इस प्रस्‍ताव का विरोध करते हुए कहा कि बैंकों को जो नुकसान हो रहा है, उसका कारण एनपीए यानी बैड लोन है. इस नुकसान के लिए बैंक कर्मचारी कहीं से जिम्मेदार नहीं हैं. उन्होंने कहा कि बीते 2-3 साल से बैंक कर्मचारियों ने सरकार की विभिन्न योजनाओं जैसे जन-धन, नोटबंदी, मुद्रा योजना और अटल पेंशन योजना समेत अन्य योजनाओं को सुचारू रूप से चलाने में बड़ी भूमिका निभाई है. इससे कर्मचारियों पर काम का बोझ काफी बढ़ा है.

साफ है कि बैंक कर्मचारी अगर 30 और 31 मई को देशव्यापी हड़ताल पर जाने के अपने फैसले पर अडिग रहते हैं तो इसका असर न सिर्फ व्यापार बल्कि आम लोगों पर भी पड़ेगा.

Also Read:
तुरंत जाने, आपके आधार कार्ड का कहां-कहां हुआ इस्तेमाल https://goo.gl/ob6ARJ

मेरा बलात्कार या हत्या हो सकती है: दीपिका सिंह राजावत, असीफा की वकील

हनिप्रीत की सेंट्रल जेल में रईसी, हर रोज बदलती है डिजायनर कपड़े

माँ ही मजूबर करती थी पोर्न देखने, अजीबोगरीब आपबीती सुनाई नाबालिग लड़की ने

सिंधियों को बताया पाकिस्तानी, छग सरकार मौन, कभी मोदी ने भी थी तारीफ सिंधियो की

Please Subscribe Us At:
WhatsApp: +91 9589333311
                                                                                                                                                  
#BankersOnStrikeForSalaryHike, #NewsVisionIndia, #HindiNewsSamachar, #BankStrike,

No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages