मानव तस्‍करी के खिलाफ नुक्‍कड़ नाटक करने झारखंड पहुंची 5 लड़कियों की अपहरण फिर गैंगरेप - News Vision India

Breaking

24 Jun 2018

मानव तस्‍करी के खिलाफ नुक्‍कड़ नाटक करने झारखंड पहुंची 5 लड़कियों की अपहरण फिर गैंगरेप

Drama Girls Kidnapped And Gang Raped
घटना की विस्तार जानकारी जब सामने आई, तो वाकया काफी हैरान करने वाला और डरावना था. बलात्कारियों ने न सिर्फ गैंगरेप किया, बल्कि हैवानियत की सारी हदें पार कर दी. गैंगरेप करने के बाद वे महिलाओं पर जुल्म ढाते रहे. हैवानियत की हद तो तब पार हो गई, जब रेप करने के बाद भी उन हैवानों ने महिलाओं के शरीर के अंदर लकड़ी, पिस्टल आदि डाले. इस खौफनाक हादसे की आपबीती एक महिला ने स्थानीय अखबार दैनिक भास्कर को बताया.

एडीजी मलिक ने उन लोगों के बारे में कहा कि यह सिर्फ यह जुनून का अपराध नहीं था. उन्होंने यह भी कहा कि अपराधियों ने घटना के वीडियो भी बनाए और तस्वीरें भी लीं. उन्होंने कहा कि यह उन्हें एक सबक सिखाने की साजिश थी.

झारखंड के एडीडी आरके मलिक ने कहा कि 'फादर अल्फोंस ने नन को छोड़ने को कहा तो उन्होंने उसे छोड़ दिया. मगर जब पीड़िता ने गुहार लगाई तो फादर ने कहा कि जाओ ये लोग थोड़ी देर में छोड़ देंगे. उसके बाद ये 6 लोग इन्हें जंगल की ओर ले गये. तीन लोगों ने और सदस्यों को गाड़ी में रोके रखा, और तीन लोगों ने इन सभी पीड़िताओं के साथ बलात्कार किया, तस्वीरें उतारी, वीडियो भी बनाया. उसके बाद जो गाड़ी में मेल मैंबर्स थे, उन्हें कहा गया कि तुम लोग अपने हाथ में पेशाब करो और इन्हें पिलाओ.'

आरके मलिक ने पीड़िताओं के हवाले से कहा अपराधी यह कह रहे थे कि यह इस एरिया में पत्थलगढ़ी के खिलाफ प्रचार करने की सजा है. अब तुम लोग दोबारा इस एरिया में नहीं आओगे. बता दें कि महिलाओं के साथ करीब चार घंटे तक उन 6 बलात्कारियों ने गैंगरेप किया और उन लोगों ने महिलाओं को पेशाब पीने पर भी मजबूर किया.

गौरतलब है कि यह मामला मंगलार शाम को खूंटी के एर्की कोचांग का है. जहां 11 सदस्यीय टीम मानव तस्करी के खिलाफ एक नुक्‍कड़ नाटक पेश करने पहुंचे थे. बताया जा रहा है कि हथियारों से लैस कुछ लोग वहां आए और उन्‍होंने पुरुषों की पिटाई की और उसके बाद बंदूक की जोर पर लड़कियों को अपने साथ ले गए. बताया जा रहा है कि लड़कियों के साथ दो नन भी मौजूद थी जिनकों बिना किसी नुकसान पहुंचाए छोड़ दिया गया है. वहीं पीड़ित लड़कियों को तीन घंटे बाद जंगल में छोड़ दिया गया.

क्षेत्रीय रिपोर्ट में कहा गया है कि इसमें शामिल लोग पाथलगदी के समर्थक हैं. यह एक जनजातीय व्यवस्था है, जिसके तहत लोग जनजाति के नियमों के अनुसार स्वयं को नियंत्रित करते हैं और राज्य के अधिकार को नहीं मानते हैं. इन गांवों में बाहरी लोगों की अनुमति नहीं होती है.

Also Read:
इस खुलासे से मचा हड़कंप, नेताओं और अधिकारियों के घर भेजी जाती थीं सुधारगृह की लड़कियां https://goo.gl/KWQiA4
तुरंत जाने, आपके आधार कार्ड का कहां-कहां हुआ इस्तेमाल https://goo.gl/ob6ARJ

मेरा बलात्कार या हत्या हो सकती है: दीपिका सिंह राजावत, असीफा की वकील

हनिप्रीत की सेंट्रल जेल में रईसी, हर रोज बदलती है डिजायनर कपड़े

माँ ही मजूबर करती थी पोर्न देखने, अजीबोगरीब आपबीती सुनाई नाबालिग लड़की ने

सिंधियों को बताया पाकिस्तानी, छग सरकार मौन, कभी मोदी ने भी थी तारीफ सिंधियो की

Please Subscribe Us At:
WhatsApp: +91 9589333311
                                                                                                                                                  
#GirlsKidnappedAndGangRaped, #NewsVisionIndia, #IndiaNewsHindiSamachar,  

No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages