जेल में लालू को जान का खतरा है तो उन्हे लालकिले में बंद किया जाए: सुशील मोदी - News Vision India

Breaking

25 Mar 2018

जेल में लालू को जान का खतरा है तो उन्हे लालकिले में बंद किया जाए: सुशील मोदी

Sushil Modi On Lalu Conviction
बिहार के उपुमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने आजतक से खास बातचीत में कहा कि अगर लालू प्रसाद यादव को जेल में रहते हुए उनकी जान को खतरा है तो उन्हें लालकिले में बंद कर देना चाहिए. आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के बेटे तथा पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने हाल ही में यह आरोप लगाया था कि उनके पिता को खतरा है और बीजेपी किसी भी हद तक जा सकती है. सजा का ऐलान होने के कुछ ही देर बात तेजस्वी ने यह सनसनीखेज आरोप लगाया.

सुशील कुमार मोदी ने कहा कि जो आदमी जेल में बंद है, जो पुलिस कस्टडी में है, अगर उसकी जान पर खतरा है तब तो उनको लालकिले में बंद करवा देना चाहिए. उन्होंने कहा कि लालू यादव सजायाफ्ता हैं, वह इस समय जेल में हैं, तीन-चार दिनों के लिए इलाज कराने के लिए पुलिस संरक्षण में हैं और लोगों को मिलने नहीं दिया जा रहा है. रोज पूर्व से लेकर शिवानंद तिवारी का बयान आ रहा है कि मिलने नहीं दिया जा रहा है, तो क्या कहना चाहते हैं. इनको पिंजरे में बंद कर दिया जाए, इनके पास कोई जवाब नहीं.

उन्होंने कहा कि इनके पास तो एक ही बात है, मार देंगे, हत्या कर देंगे, यह BJP का षड्यंत्र है, BJP कहां है. अगर यह पिटीशन दाखिल किया सुशील मोदी और लल्लन सिंह ने तो शिवानंद तिवारी भी तो थे जो आज लालू जी के दाहिना हाथ बने हुए हैं. एक मामले में नहीं, यह चौथा मामला था जिसमें सजा हुई है.

'नौकरशाह और नेताओं भी लें सबक'

उन्होंने कहा कि दूसरी ओर राष्ट्रीय जनता दल को सबक लेना चाहिए. केवल आरजेडी को ही नहीं सभी नौकरशाह और नेताओं को लालू यादव की सजा से सबक लेना चाहिए कि भ्रष्टाचार करोगे तो बचके नहीं जाओगे. कानून के हाथ बहुत लंबे होते हैं. मौका मिला है तो सेवा करें, ना कि लालू यादव जैसे लोगों को मौका मिला तो खजाना लुटवा दिए. तेजस्वी ने फैसले के बाद कहा था कि लालू प्रसाद यादव को जान का खतरा है और उन्होंने आरोप बीजेपी पर लगाया था.

आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को चारा घोटाले के चौथे मामले में 7-7 साल की सजा पर प्रतिक्रिया देते हुए मोदी ने कहा कि देखिए न्यायिक प्रक्रिया में कोई उंगली उठाना उचित नहीं है. लेकिन एक ही केस में कोई षड्यंत्र में रहता है, कई अलग-अलग प्रकार के आरोप रहते हैं.

यह जरूरी नहीं कि हत्या के मामले में, चोरी के मामले में, भ्रष्टाचार के मामले में एक ही प्रकार की सजा मिले. अभी चारा घोटाला में सैकड़ों लोग शामिल थे तो सब को एक प्रकार की सजा थोड़े हो सकती है. लालू यादव मुख्यमंत्री थे उन्होंने श्याम बिहारी सिन्हा को संरक्षण देने का काम किया और जितने घोटालेबाज थे उनकी सेवा अवधि को विस्तार दिया. उनके बच्चों के स्कूल में गार्जियन थे, बहुत सारे आरोप थे इस प्रकार के, इसलिए अलग-अलग सजा होना बहुत स्वाभाविक है.

'क्या हमने सजा दिया है लालू को जो हम पर आरोप लगाए जा रहे हैं'

तेजस्वी के लालू यादव को 2019 के चुनाव तक जेल से बाहर नहीं आने देने के षडयंत्र के आरोप पर सुशील कुमार मोदी ने कहा कि क्या हमने सजा दिया है, क्या हम लोगों ने उनको जेल में रखा या कोर्ट ने रखा. जिसको जो कहना है कहे मैं क्या जवाब दूं. अगर बिहार पुलिस ने किसी अपराधी को पकड़ कर थाने में बंद किया होता तब तो एक बात थी वो तो न्यायिक हिरासत में हैं. इसमें BJP कहां से आती है, नीतीश कुमार कहां से आते हैं, लेकिन अपने कार्यकर्ताओं को खुश करने के लिए कुछ भी बयान दे देना है, कुछ भी बोल देना है.

'लालू का 13 करोड़ का घोटाला 300 करोड़ के बराबर'

उन्होंने कहा कि बयान देने से ना सजा कम होगी और ना बढ़ेगी, वहां तो मेरिट पर काम होगा. दूसरा मैं लालू के बेटे से भी कहूंगा कि सबक सीखो. 28 साल की उम्र में 1000 करोड़ की संपत्ति के मालिक बन गए और सीना तान कर घूम रहे हैं जैसे लगता है कि मेहनत से इन्होंने अपनी संपत्ति जमा कर रखी है. लालू को फंसाने के आरोप में बोलते हुए मोदी ने कहा कि उस जमाने का 13 करोड़ आज के 300 करोड़ से बराबर है. अब लालू यादव के लोग यह प्रचार करें कि बीजेपी ने फंसा दिया तो यह फैसला क्या बीजेपी ने दिया है, क्या BJP के किसी कार्यकर्ता का फैसला है.

'लालू के पास नहीं है जवाब, इसलिए नहीं हुए बरी'

मोदी ने कहा कि यह न्यायपालिका का फैसला है, आरजेडी के लोग ऐसा प्रचार कर रहे हैं, मानो की सीबीआई स्पेशल कोर्ट का जज CBI का ही आदमी होता है. आपने हिंदुस्तान के बेहतरीन वकीलों को बुलाकर बहस करवाया, सीबीआई ने बहस किया, गवाह गुजरे, उसके बाद कोर्ट ने फैसला किया और एक मामले में नहीं 4 मामलों में फैसला हुआ है. वो क्या प्रचार करना चाहते हैं, कभी कहते हैं लालू को जेल और जगन्नाथ मिश्रा को बेल, कभी कुछ, कभी कुछ. सवाल तो यह है कि जिन पर आरोप लगे उस पर क्या जवाब है इनके पास और जवाब होता तो 4 में से किसी ना किसी मामले में तो यह बरी हो जाते. लेकिन एक भी मामले में यह आज तक बरी नहीं हुए.

बीजेपी सांसद और बिहारी बाबू शत्रुघ्न सिन्हा सजा के फैसले के बाद लालू प्रसाद यादव से मिलने रांची के अस्पताल पहुंचे. उन्होंने कहा कि लालू यादव तुरंत निकलेंगे, मोदी ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सांसद हैं, कलाकार आदमी हैं, कलाकार आदमी सब से मिलते रहते हैं तो इसमें मिले तो कोई बड़े आश्चर्य की क्या बात है.

Also Read:
तुरंत जाने, आपके आधार कार्ड का कहां-कहां हुआ इस्तेमाल https://goo.gl/ob6ARJ
Kelly’s Restaurant की ग्राहकों से अवैद वसूली, खानें से पहलें सोचें एक बार https://goo.gl/xsEdy9
68 साल से पिंपलोद ग्रामवासियो ने नहीं मनाई होली https://goo.gl/zE3Y9F

Please Subscribe Us At:
WhatsApp: +91 9589333311

#SushilModiOnLaluConviction, #NewsVisionIndia, #HindiNewsPoliticsSamachar,

No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages