600 दिन में बने पद्मावती के गहने, 200 कारीगरों ने किया था तैयार - News Vision India

Breaking

16 Nov 2017

600 दिन में बने पद्मावती के गहने, 200 कारीगरों ने किया था तैयार

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती पर जारी विवाद थमता नजर नहीं आ रहा. फिल्म की रिलीज 1 दिसंबर को प्रस्तावित है. हालांकि यह साफ़ नहीं हो पाया कि फिल्म तय तारीख पर ही सिनेमाघरों में हो पाएगी की नहीं. वैसे बता दें कि शुरू से ही यह फिल्म चर्चाओं में है. इसकी कहानी, स्टार कास्ट, कॉस्टयूम और विवाद पर खूब चर्चाएं हो रही हैं. बता दें कि 'पद्मावती' में दीपिका पादुकोण, रानी पद्मिनी की भूमिका निभा रही हैं. फिल्म में उन्होंने जो गहने पहने हैं, उसके लिए ज्वैलरी डिजाइनर्स और कारीगरों को काफी मेहनत करनी पड़ी है. दीपिका के सारे गहने तनिष्क ने खासतौर से डिजाइन किए हैं. एक वीडियो में बताया गया कि कैसे और किस तरह शाही जेवरों को तैयार किया गया.
क्वीता बताती हैं कि यह कहानी 13वीं और 14वीं शताब्दी की है. उस समय की रानियां कैसे गहने पहनती थीं, इसका कहीं रिकॉर्ड नहीं था. कोई रेफरेंस बुक भी नहीं था, जिससे हमें जानकारी मिल सकती थी. हमने गहने बनाने के लिए बहुत रिसर्च किया, बहुत से राजा-महराजाओं की गहनों की किताबें पढ़ीं.
वो कहती हैं कि हमारी टीम जानकारी जुटाने के लिए देश भर में घूमी. हमने कई म्यूजियमों के चक्कर लगाए. हमने कई इतिहासकारों से पूछा कि उस समय की रानियां कैसे गहने पहनती थीं.
पद्मावती के गहने बनाने के लिए 200 कारीगरों ने 600 दिनों तक काम किया. इसके लिए 400 किलो सोना को मोल्ड किया गया. गहनों में बहुत से स्टोन्स लगाए गए.
कुन्दन और मीनाकारी वर्क के हर पीस के लिए 5 कारीगर थे. राजपूताना कल्चर मोर, घोड़े, हाथी की थीम पर बनी गहनों पर फोकस करती थी.
आपको बता दें कि फिल्म में दीपिका ने जो जेवर पहने हैं वो करीब 20 किलो के बताए जा रहे हैं. उनके कपड़े भी काफी वजनदार हैं. दरअसल, जरी के काम की वजह से उनका वजन ज्यादा है. भारी-भरकम कॉस्ट्यूम में ही दीपिका ने लंबे-लंबे शूट किए हैं. दीपिका को रानी पद्मावती बनने के लिए कम से कम 1 घंटा लगता था.

No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages