न्यायालय की सख्ती की वजह से हो रही केमतानी बिल्डर के खिलाफ कार्यवाही - News Vision India

Breaking

9 May 2018

न्यायालय की सख्ती की वजह से हो रही केमतानी बिल्डर के खिलाफ कार्यवाही

अक्सर देखा गया है कि कैसे रईस व प्रभावशाली लोग कानून के शिकंजे से बच जाते हैं. हमने कई बार सुना होगा और हमें रोजाना यह देखने को मिलता है.

मगर हम आज भी अपनी न्यायालयों पर भरोसा करते हैं और न्यायालय प्रक्रिया भले ही धीमी हो मगर हम जानते हैं कि वहीं से हमें न्याय मिलेगा.

तभी हमारे देश में बहुत सारी कमियों के बाद भी हम I Will See You In Court डायलॉग पर भरोसा करते हैं.

ऐसी ही एक मिसाल जबलपुर जिले में मिली. जहां पर 16.4.2018 को केमतनी बिल्डर कि एक निर्माणाधीन बिल्डिंग की छत गिर गई. जिससे कि मौतें हुई और बड़ी संख्या में लोग घायल हुए. यह मौते और घायलो सामाजिक स्थर पर बहुत ही छोटे लोगों की थी, यानि कि डेली वेजेस लेबर जिनका की शायद ही कोई साथ देने के लिए उठे. पुलिस ने जांच कर 3 ठेकेदारों को अभियुक्त बना कर FIR की और न्यायालय में पेश किया जहां से कि न्यायालय ने तीनों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

डॉ. सिराज़ खान (प्रधान संपादक, जबलपुर) ने जिला न्यायधीश श्रीमान चंद्रेश खरे जी को दिनांक 26.4.2018 को पत्र लिखकर इस पूरे मामले की जानकारी दी. जिला न्यायधीश ने मामले की गंभीरता को देखते हुए उसी दिन श्रीमान शारद भामकर एडीजे (सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण) को आदेश दिया. जिसके बाद भोला नमक लेबर जो की सबसे ज्यादा घायल है उसका इलाज हो सका. उसका परिवार 80,000/- रूपए ब्याज़ पर ला पाया पर हॉस्पिटल को 2 लाख रूपए चाहिए थे. मगर न्यायलय की वजह से खर्च शाशन दुआरा दिया गया.

थाना प्रभारी को भी आदेश हुआ की मृत और घायलों के परिवार को दिनांक 1 मई को थाने लाए, जहा पर जिला विधिक सेवा पीडितो से मिला. लेबर कमिशनर को भी आदेश हो चूका है की वह केमतनी बिल्डर के खिलाफ केस तैयार कर लेबर कोर्ट में पेश करे.

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने मानवता को जिंदा रखा और अगर ये न होते तो भोला का परिवार क़र्ज़ में फस जाता. भोला का ऑपरेशन तो हो गया है पर डॉक्टरों अनुसार शायद ही वो अपनी ज़िन्दगी में दोबारा पहलें जैसे काम कर पाएगा.

बाइट – शरद भामकर – एडीजे – विधिक सेवा प्राधिकरण


Also Read:
तुरंत जाने, आपके आधार कार्ड का कहां-कहां हुआ इस्तेमाल https://goo.gl/ob6ARJ

मेरा बलात्कार या हत्या हो सकती है: दीपिका सिंह राजावत, असीफा की वकील

हनिप्रीत की सेंट्रल जेल में रईसी, हर रोज बदलती है डिजायनर कपड़े

माँ ही मजूबर करती थी पोर्न देखने, अजीबोगरीब आपबीती सुनाई नाबालिग लड़की ने

सिंधियों को बताया पाकिस्तानी, छग सरकार मौन, कभी मोदी ने भी थी तारीफ सिंधियो की

Please Subscribe Us At:
WhatsApp: +91 9589333311
                                                     
#ActionAgainstKemtaniBuildersByCourt, #NewsVisionIndia, #HindiNewsKemtaniSamachar,

No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages