भोपाल लोक अदालत में बंटे ₹40 करोड़ 50 लाख, 1997 केस खत्म, लाभान्वित हुए 4205 लोग - News Vision India

Breaking

14 Dec 2019

भोपाल लोक अदालत में बंटे ₹40 करोड़ 50 लाख, 1997 केस खत्म, लाभान्वित हुए 4205 लोग

 jila vidhik seva pradhikaran , bhopal .secretary ,

 आज दिनांक 14 दिसंबर 2019 को भोपाल न्यायालय में लोक अदालत का आयोजन किया गया था, इस लोक अदालत के आयोजन समारोह में सभी न्यायाधीश गण उपस्थित रहे, माननीय जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री राजेंद्र कुमार जी के द्वारा दीप प्रज्वलित कर एवं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को माल्यार्पण कर, लोक अदालत की कार्यवाही का शुभारंभ किया गया, इस अवसर पर एडिशनल डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट सतीश कुमार और डीआईजी भोपाल श्री इरशाद अली भी उपस्थित रहे,

इस बार के लोक अदालत के आयोजन पर सबसे खास विषय यह है, कि पिछली लोक अदालत के आयोजन के मुकाबले इस बार 83% मामले अधिक निपटें, इस आयोजन में टोटल 40 करोड़ 50 लाख की अवार्ड राशि पारित की गई, जिसमें 1493 सिविल और दंडक प्रकरण रहे, और 504 मामले रहे,  कुल 1997 प्रकरणों का आज एक साथ निराकरण हुआ और यह निराकरण एक साथ तभी संभव हुआ जब जिला एवं सत्र न्यायाधीश माननीय श्री राजेंद्र कुमार वर्मा एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री आशुतोष मिश्रा जी के अथक प्रयासों से समझौते के योग्य प्रकरणों को चिन्हित किया गया, इस पूरे कार्यक्रम में लगभग 10 हजार से अधिक केस लिस्टेड किए गए थे,  जिसमें से इन सभी की छटनी की गई और विभिन्न न्यायालयों में विभिन्न मामलों में लड़ रहे, वादी प्रतिवादी के मध्य आपसी सुलह, उचित निष्कर्ष को आधार बनाकर न्यायाधीश गणों के द्वारा अपने विवेक बुद्धि कौशल से, इन सभी प्रकरणों का एक साथ निराकरण करना आज के लोक अदालत के आयोजन पर सुनिश्चित किया गया और नतीजतन 4205 लोग लाभान्वित हुए,

jila vidhik seva pradhikaran , bhopal .secretary ,

इस पूरे आयोजन में आकर्षण का केंद्र रहा एक प्रकरण, जिसमें प्राधिकरण के सचिव श्री आशुतोष मिश्रा के द्वारा बताया गया कि एक्सीडेंट में भागीरथ नामदेव की मृत्यु हो गई थी, और यह केस यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी विरुद्ध न्यायालय में लंबित था, इस प्रकरण को आज निपटाया गया है, सबसे खास बात यह थी, मृतक पर निर्भर वारसानो के हितों को दृष्टिगत रखते हुए, आरोप-प्रत्यारोप के दौरों को नष्ट करते हुए, माननीय न्यायालय के द्वारा 33.50 लाख  का चेक मृतक भागीरथ नामदेव के वारसानो  को प्रदत्त किया गया, यह चेक मिलते ही भागीरथ के वारसान खुशी से चमक उठे, अपने आप में अपने घर के सदस्य की दुर्घटना में  मृत्यु के बाद हंसता खेलता परिवार जो उजड़ गया था, आज उनके घर में खुशी का माहौल व्याप्त हो गया,

  
jila vidhik seva pradhikaran , bhopal .secretary ,


हर बार की तरह इस बार भी लोक अदालत ने एक मिसाल कायम की है, अधिक से अधिक प्रकरणों का निपटारा एक द्रितीय लक्ष्य है, प्रथम लक्ष्य यह है की , न्याय की आस में खड़े लोगों को समय पर न्याय दिलाना, जिसकी पहल न्यायाधीशों के द्वारा की गई, इस पूरे आयोजन का श्रेय जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री राजेंद्र कुमार जी एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री आशुतोष मिश्रा जी जाता है, जिन्होंने खुद केम्प लगा कर, आम जनता को विधिक सेवा से प्राप्त होने वाली सुविधाओ के बारे में बाताया , जागरूख किया, और आज इस मुहीम के चलते प्रकरण पंजीकृत भी होना कम हो रहे है,  


REPORTS :- 



No comments:

Post a comment

Pages