तो इसलिए होते हैं एक्स्ट्रा मेरिटल अफेयर - News Vision India

Breaking

21 Mar 2017

तो इसलिए होते हैं एक्स्ट्रा मेरिटल अफेयर

आपने एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के बारे में तो सुना ही होगा। यह एक ऐसा रिश्ता है जो शादी होने के बाद मर्द अपनी पत्नी को छोड़ किसी और महिला के साथ बनाता है। लेकिन क्या आपको मालूम है कि आदमी एक्स्ट्रा मेरिटल अफेयर की ओर खिंचता क्यों है। इसके पीछे कई कारण होते हैं जिसमें सबसे बड़ा कारण होता है खुली सोंच। आज हम आपको ऐसे ही उन कारणों के बारे में बताते हैं जिसकी वजह से एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर कायम होता है।

एक्स्ट्रा मेरिटल अफेयर होने के मुख्य कारण

जैसा कि हमने आपको बताया कि एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की ओर खिंचाव का सबसे बड़ा कारण है खुली सोंच। दरअसल, कई बार व्यक्ति खुली सोंच की वजह से अपने रिश्ते खुद बनाना चाहता है। ऐसे में वह उन रिश्तों को ज्यादा तवज्जो नहीं दे पाता जो उसे विरासत में मिली हो या उसके माता-पिता ने चुना हो। ऐसी सोंच वाले अपनी पत्नी को सिर्फ एक जिम्मेदारी मानते हैं और एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की ओर खिंचे जाते हैं।
एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर का एक और कारण है समय की कमी। एक रिसर्च के अनुसार, वर्किंग प्लेस पर एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की संभावना अधिक होती है। आज मेट्रो सिटीज़ में अच्छी लाइफस्टाइल के लिए कपल्स ने ख़ुद को इस हद तक बिज़ी कर दिया है कि उनके पास घर-परिवार की छोड़िए, एक-दूसरे के लिए भी समय नहीं है। जिस वजह से एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर हो जाते हैं।
सबसे आगे निकलने की होड़ और ज्यादा खुली सोच ने युवाओं बहुत कम उम्र में अजीबोगरीब बना दिया है। एक-दूसरे के इमोशन्स, फिलिंग आदि से उन्हें कोई ख़ास मतलब नहीं होता। केवल लस्ट की वजह से अधिक सेक्स की भावना पैदा होती हैं जिससे पार्टनर एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर को ग़लत नहीं समझते।
कई बार तो पैसे की वजह से भी एक्स्ट्रा मेरिटल अफेयर होते हैं। पार्टनर यदि अपने जीवनसाथी की इच्छाओं को पूरा करने में आर्थिक रूप से सक्षम नहीं होता है। तो एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर पैदा होते हैं।
अहंकार भी ऐसे रिश्तों के उपज का मुख्य कारण है। जहां प्यार होता है, वहां अहंकार की कोई जगह नहीं होती, लेकिन आज जोड़ो के बीच प्यार के लिए कोई जगह नहीं है, उनकी नज़र में अंहकार ही सबसे बड़ा हो जाता है, जिसकी वजह से न वो पार्टनर के आगे कभी झुकते हैं और ना ही कभी आपसी सहमति से रिश्तों की नींव को मज़बूत बनाने की कोशिश करते हैं। जिसके परिणाम स्वरूप वह बाहर सुख खोजते हैं।

No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages