बिहार में भाषण देते हुए हर मिनट 84 टॉयलेट बनने का दावा कर गए पीएम नरेन्द्र मोदी - News Vision India

Breaking

11 Apr 2018

बिहार में भाषण देते हुए हर मिनट 84 टॉयलेट बनने का दावा कर गए पीएम नरेन्द्र मोदी


PM Modi Claims 84 Toilets Per Minute
चंपारण सत्याग्रह के शताब्दी वर्ष के समापन समारोह के दौरान जनता को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कुछ ऐसा बोल गए जिस पर विश्वास करना काफी मुश्किल है। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री बिहार में सरकार द्वारा बनवाए गए टॉयलेट के बारे में लोगों को बता रहे थे। इस दौरान प्रधानमंत्री ने जो आंकड़ा प्रस्तुत किया वह वाकई अविश्वसनीय है। प्रधानमंत्री ने कहा कि बिहार में एक हफ्ते में 8 लाख पचास हजार से ज्यादा शौचालय निर्माण का काम पूरा किया गया है। इस आंकड़े को अगर तोड़कर देखें तो एक सप्ताह के 168 घंटों में तकरीबन 5059 शौचालय प्रति घंटे बने हैं। अगर इन आंकड़ों पर भरोसा करें तो बिहार में हर मिनट पर 84 शौचालयों का निर्माण कार्य हुआ है।

खबर है कि प्रधानमंत्री द्वारा प्रस्तुत इस जादुई आंकड़े को खुद बिहार सरकार ने खारिज कर दिया है। बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक बिहार सरकार के लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के सीईओ बालामुरुगण डी ने बताया है कि बिहार में 13 मार्च से लेकर 8 अप्रैल के बीच इन शौचालयों का निर्माण किया गया है। इस हिसाब से 8 लाख पचास हजार शौचालय एक हफ्ते में नहीं बल्कि 4 हफ्ते में तैयार किए गए हैं। बिहार में अभी भी तकरीबन 43 फीसदी घरों में ही शौचालय उपलब्ध है और बिहार का कोई भी जिला अभी खुले में शौच से मुक्त नहीं है।

Also Read:
तुरंत जाने, आपके आधार कार्ड का कहां-कहां हुआ इस्तेमाल https://goo.gl/ob6ARJ

महिला प्रिंसिपल छात्र को घर बुला जबरन शारीरिक संबंध बनाती थी, अब हुई फरार

डिजिटल वैश्यावृत्ति, सोशल मीडिया बना आधार इस काले धंधे का पुलिस ने किया खुलासा

जो महिलाएं जींस पहनती हैं वे किन्नर बच्चे को जन्म देती और चरित्रहीन होती है

सिंधियों को बताया पाकिस्तानी, छग सरकार मौन, कभी मोदी ने भी थी तारीफ सिंधियो की

Please Subscribe Us At:
WhatsApp: +91 9589333311
                                                                                                                                                  
#PMModiClaims84ToiletsPerMinute, #NewsVisionIndia, #HindiNewsBiharPoliticsSamachar,

No comments:

Post a Comment

Follow by Email

Pages