न्यायालय बनी मानवता की मिसाल, 3 महिलाओं को जल्द मिला न्याय - News Vision India

Breaking

9 Sept 2018

न्यायालय बनी मानवता की मिसाल, 3 महिलाओं को जल्द मिला न्याय

आज दिनांक 8 सितंबर 2018 को माननीय सर्वोच्च न्यायालय एवं उच्च न्यायालय के निर्देशन में आयोजित की गई नेशनल लोक अदालत में ADJ अयाज मोहम्मद की खंडपीठ के द्वारा लंबित मामलों के निस्तारण में नया स्तर पार किया,  जिसमें न्यायाधीश की सक्रिय भूमिका पर लंबे समय से विचाराधीन मामलों का निपटारा हुआ,  जिसमें वाहन दुर्घटना दावे में राजीनामे के आधार पर 26,40,000/- रुपए की राशि का अवार्ड मृतक के परिजनों को प्राप्त हुआ,

यह अवार्ड पाते ही मृतक के परिजन महिलाएं अपने खुशी के आंसुओं को रोक नहीं पाई थी, नगर पालिक निगम कर्मचारी अनमोल तिवारी की दिनांक 8 दिसंबर 2017 को सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी,  और सदमे में उसके पत्नी एवं बच्चे एवं बीमार माता-पिता की स्थिति दयनीय हो गई थी,  पूरे परिवार के समक्ष अपनी पुत्री के विवाह का भी एक भार था,  बुजुर्ग माता पिता के भरण पोषण एवं चिकित्सकीय प्रबंध का भी पूरा जिम्मा मृतक के परिवार जनों पर था,  मृतक अपने परिवार में इकलौता आय का स्त्रोत रहा है,  परिवार वालों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा जब ADJ AYAAZ MOHAMMAD के द्वारा मृतक के परिवार को दुर्घटना दावे में राजीनामे के आधार पर 26,40,000/- रुपय भुगतान किए जाने का आदेश पारित किया

डॉ. सिराज़ खान की रिपोर्ट

Also Read:
इस खुलासे से मचा हड़कंप, नेताओं और अधिकारियों के घर भेजी जाती थीं सुधारगृह की लड़कियां https://goo.gl/KWQiA4
तुरंत जाने, आपके आधार कार्ड का कहां-कहां हुआ इस्तेमाल https://goo.gl/ob6ARJ

मेरा बलात्कार या हत्या हो सकती है: दीपिका सिंह राजावत, असीफा की वकील

हनिप्रीत की सेंट्रल जेल में रईसी, हर रोज बदलती है डिजायनर कपड़े

माँ ही मजूबर करती थी पोर्न देखने, अजीबोगरीब आपबीती सुनाई नाबालिग लड़की ने

सिंधियों को बताया पाकिस्तानी, छग सरकार मौन, कभी मोदी ने भी थी तारीफ सिंधियो की

Please Subscribe Us At:
WhatsApp: +91 9589333311
                                                                                                                                                  
#NationalLokAdalatBenefittedMotherWifeAndDaughterByGivingSpeedyTrail#NewsVisionIndia, #IndiaNewsHindiSamachar,

No comments:

Post a comment

Pages