बस लापरवाही ``नही करो ना``, चाइना के बाद इटली को सबसे बड़ा झटका, अब सबसे तेज संक्रमण की सम्भावनाये कहाँ पर, लापरवाही जहाँ पर - News Vision India

Breaking

18 Mar 2020

बस लापरवाही ``नही करो ना``, चाइना के बाद इटली को सबसे बड़ा झटका, अब सबसे तेज संक्रमण की सम्भावनाये कहाँ पर, लापरवाही जहाँ पर


laparwahi karo na na . India Increasing Cases Corona Covid-19


चाइना के बाद इटली ऐसा दूसरा देश है, जहां पर कोरोना के सबसे ज्यादा संदिग्ध पाए गए हैं, जहां पर मृत्यु दर चाइना के बाद अगर सबसे अधिक पाई गई है, तो वह इटली में पाई गई है, विभिन्न वेबसाइट से एवं सोशल मीडिया से आ रहे संदेशों का analysis करते हुए जो जानकारी संभावित तौर पर प्राप्त हुई है, उसमें चाइना के बाद इटली में जिस ग्राफ के साथ  पीड़ितों की गिनती में वृद्धि हुई है, उसमें इटली दूसरे स्थान पर आ चुका है, और इसके पीछे की वजह थी, की इटली सरकार ने एहतियात के तौर पर सभी स्कूल कॉलेज बंद कर दिए थे और लोगों को समय काटने के लिए अपने बच्चों के एंटरटेनमेंट के लिए बच्चों के साथ गार्डन, शॉपिंग मॉल, बाजार, चौपाटी और रेस्टोरेंट्स जैसे माहौल में जाना पड़ता था,   और आखिरकार यह भीड़भाड़ वाले इलाके इटली में सबसे बड़ा कारण उभर के सामने आए हैं, जिसमें कोरोनावायरस के पीडितो की संख्या में वृद्धि करने के सबसे बड़े कारणों में इसे चिन्हित किया गया है, और आज वर्तमान में पूरा इटली लॉक डाउन है, परंतु अब यह समस्या इस हद तक पहुंच चुकी है, जो लाखों पीड़ितों को अपनी गिरफ्त में ले चुकी है, और हजारों की तादाद में लोग मारे जा चुके हैं, अब पीड़ित लोगों की गिनती का वर्तमान ग्रासितो की 1% भी प्रतिदिन की वृद्धि पर मूल्यांकन किया जाए, तो कई दर्जन मामले रोज बढ़ रहे हैं, उदाहरण के लिए एक कैलकुलेशन इस प्रकार है, 

Italy reported its first two cases on 30 Jan.
Total of ONLY 4 cases on 21 Feb.
Total of 20 cases, on 22 Feb, the next day.
23 Feb (79),   24 Feb (>150), 25 Feb (322),  26 Feb (400),  27 Feb (655),   28 Feb (888),   01 Mar (1577),   02 Mar (1835),  03 Mar (2263),  05 Mar (3858),  06 Mar (4636),  08 Mar (7375 - 366 deaths - Clampdown of northern Italy 16 million people),  09 Mar (9172 - 463 deaths - Countrywide lockdown) 10 Mar (10149 - 631 deaths)
11 Mar (12462 - 827 deaths)  13 Mar (15000 -1400 deaths) and now  

Today :- Italy reported 345 new coronavirus deaths in the country over the last 24 hours taking its total death toll to 2,503 an increase of 16 percent.
The total number of cases in Italy rose to 31,506 from a previous 27,980, up 12.6 percent - the slowest rate of increase since the contagion came to light on February 21. Italy is the European country hardest hit by coronavirus.
Look at this. From just 4 cases 28 days back.....  

One of the main reasons is said to be the delay in enforcing restrictions in Italy.  After China, Now it is fully blown up epidemic in Italy & it is moving to other European countries as declared by WHO. This is third stage in Italy & Europe & second stage in USA.

In India, we are passing through 1st stage and 2nd stage is very near. China has shown the way to the world. This epidemic is controlled by precautions as there is no medicine available. Next 30 days are very crucial. We must follow the precautions & remain home as much as possible. We can defeat the virus by taking precautions suggested by WHO & remaining at home.

Avoid all unnecessary social places, meetings, restaurants and all gatherings in contacts.

The World Health Organization (WHO) has described the coronavirus pandemic as the"defining global health crisis of our time", and urged countries to test all suspected cases of COVID-19

कैसे फैलता है यह वायरस एक से दुसरे व्यक्ति में जानने के लिए देखे विडियो ...

एक वायरल वीडियो में इस बीमारी के लक्षणों में दिन-प्रतिदिन की वृद्धि के बारे में बताया गया है, जो किसी भी व्यक्ति को मरणासन्न स्थिति तक लाने में 9 से 14 दिन का समय लेती है, और यह प्रत्येक व्यक्ति की इम्युनिटी पर भी निर्भर करता है, रोग प्रतिरोधक क्षमता अगर किसी व्यक्ति की अच्छी है, तो उस पर यह बीमारी उस व्यक्ति को अपनी जकड़ में लेने में कुछ दिन अधिक भी ले सकती है, और वह व्यक्ति ठीक भी पूरी तरह से हो सकता है, परंतु इस सदी में काम के बोझ और अन्य विभिन्न प्रकार के तनाव में जी रहा व्यक्ति, शारीरिक रूप से उतना सक्षम नहीं है, जो इस तरह की बीमारी को ज्यादा दिनों तक झेल सके या उस से लड़ सके,

कैसे यह बीमारी हर व्यक्ति के शरीर में घात लगाती है, देखिये विडियो, 


एकमात्र तरीका है कि प्रशासन के द्वारा अगर 14 दिन के लिए पूरी तरह से लॉक डाउन कर दिया जाए लोगों को भीड़ वाले एरिया में जाने से पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया जाए लोगो को घर पर रहने के निर्देश दिए जाएं, तो इसकी  बढ़ोतरी में एक भारी गिरावट दर्ज हो सकती है, क्योंकि 12 घंटे से ज्यादा वायरस कहीं पर भी यह वायरस सर्वाइव नहीं कर सकता और इससे ग्रसित व्यक्ति किसी भी भीड़ वाले एरिया में अगर चला जाता है, तो किस वस्तु से उसका संपर्क होगा, जिससे दूसरे व्यक्ति का संपर्क होगा और उस वस्तु से अन्य कितने व्यक्तियों के संपर्क हो रहे हैं, यह 12 घंटे में कितने लोगों के साथ ऐसा होता है, यह तय कर पाना एवं इसे ट्रेस कर पाना किसी के लिए संभव नहीं है, इटली एक हमारे सामने उदाहरण के रूप में रखा है, जिसमें इस बीमारी को काबू करने का एक साक्षात उदाहरण पेश किया है,


फिलहाल मध्यप्रदेश के इंदौर से महाराष्ट्र जाने वाली सभी बसों  को लॉक डाउन कर दिया गया है Judicial सिस्टम में भी अब महत्वपूर्ण और आवश्यक अर्जेंट मामलों पर सुनवाई होगी,  बाकी सभी मामले जिन्हें 15 दिन के लिए स्थगित कर दिया गया है...

यह गर्मी में उतना नहीं पहन सकता जितना नमी के माहौल में इसे फैलने में आसानी होती है अगर माहौल ठंडा है बरसाती है तो इसका वायरस जल्दी नष्ट नहीं होता है जिस प्रकार फ्रिज में रखा हुआ कोई भी आहार सूखता नहीं है वैसे ही है वायरस ठंडे और नमी वाले माहौल में अधिक से अधिक समय तक जिंदा रह सकता है, गर्मी में इसके सर्वाइवल के चांसेस कम हो जाते हैं

जबलपुर शहर में सदर चौपाटी, सिविक सेंटर चौपाटी, बड़ा फुहारा में कई रेस्टोरेंट खान पान वाले बस स्टैंड क्षेत्रों में लगे हुए, कई रेस्टोरेंट इंडियन कॉफी हाउस जैसे रेस्टोरेंट जहां पर भारी तादाद में लोग आते जाते रहते हैं, तथा अभी शहर में छोटे-मोटे कई ऐसे रेस्टोरेंट्स खुल गए हैं, जो इस बीमारी के संक्रमण में सहायक साबित हो सकते हैं, इस शहर में खानपान एवं शॉपिंग मॉल यह दो जगह ही ऐसी हैं, जहां से संक्रमण को अपने पैर पसारने का मौका मिलता है, इसीलिए प्रशासन को एहतियात  के तौर पर इस समस्या के बड़ा होने से पहले ही इसे अपनी ग्रिप  में ले लेना चाहिए, इस मामले में जिला मजिस्ट्रेट को हमने एक पत्र लिखकर कार्रवाई की अपेक्षा भी की है,






No comments:

Post a comment

Pages