सिन्धी धर्मशाला की बुकिंग के भरोसे न रहे आम नागरिक, कभी भी लग सकता है कार्यक्रमों पर स्टे, और चल सकता है बुलडोजर - News Vision India

Breaking

4 Oct 2019

सिन्धी धर्मशाला की बुकिंग के भरोसे न रहे आम नागरिक, कभी भी लग सकता है कार्यक्रमों पर स्टे, और चल सकता है बुलडोजर



सिन्धी धर्मशाला की बुकिंग के भरोसे न रहे आम नागरिक, कभी भी लग सकता है कार्यक्रमों पर स्टे, और चल सकता है बुलडोजर, लोकहित में प्रकाशित खबर 


अवैध निर्माण और अवैध रूप से संचालन के मामले में  विषय संबंधित कार्यालयों में लंबित जांच प्रक्रिया के अंतर्गत मामला अब माननीय उच्च न्यायालय की ओर अग्रसर होने की स्थिति के मद्देनजर सिंधी समाज के शुभचिंतको को एवं अन्य अपेक्षको जो भविष्य में सिंधी धर्मशाला में किसी प्रकार का पारिवारिक या  वैवाहिक कार्यक्रम आयोजित करना चाहते हैं,  जिन  लोगों ने बुकिंग ली हो, जिनका प्रोग्राम पहले से निर्धारित और सुनिश्चित हो, ऐसे लोगों के लिए थोड़ी बुरी खबर साबित हो सकती है, 

मामला है सामाजिक धनराशी के दुरूपयोग का, चंदा/वसूली  गबन के मामले में कार्यवाही जारी है, शहर के कई दिग्गजों के फर्जी समाज सेवी के चेहरे होंगे बेनकाब 

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें


सिन्धी धर्मशाला घंटाघरको तोड़ने के आदेश हुए पारितकभी भी चल सकता है बुलडोजर
https://www.newsvisionindia.tv/2019/06/sindhi-dharamshala-ghantaghar-ILLEGAL-CONSTRUCTION-REMOVAL.html


क्योंकि वर्तमान में इस धर्मशाला के संचालन के विषय में चल रही कार्यवाहीओं में अभी तक कोई भी अधिकारिक पुष्टि नहीं होने के कारण, सब कुछ संदिग्ध है जिसका अब माननीय उच्च न्यायालय के समक्ष स्थाई निषेधाज्ञा के लिए अगली कार्यवाही का प्रथम स्टेप है, जो उन लोगों को निराश कर सकता है,  जिन लोगों ने पूर्व में किसी कार्यक्रम के आयोजन के लिए धर्मशाला की बुकिंग ली हो ऐसी परिस्थिति में लोकहित , जन जागरण हेतु  ,  इस खबर के माध्यम से अवगत है, कि किसी प्रकार की खेद जनक परिस्थिति का सामना करने से बेहतर बुकिंग करने वाले कोई अन्य विकल्प देख ले,  खेद जनक परस्तिथियो से बचे, क्योंकी बुकिंग लेने वाला खुद फर्जी है, ऐसे में वैकल्पिक व्यवस्था में आयोजको को अनावश्यक दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है 

सिन्धी समाज जबलपुर का नटवर लाल नंदलाल कुंगानी, अपने ही समाज से की गद्दारी, फर्जी रसीद से वसूले करोड़ो, जाँच के नाम पे रिकॉर्ड गायब,















No comments:

Post a comment

Pages