RTI तेरे टुकड़े होंगे, जब हर घर से राकेश साल्वी जैसा अफजल निकलेगा, 25000/- की पेनाल्टी से प्रायश्चित करेगा माफ़ीनाम भी देगा, - News Vision India

Breaking

4 Oct 2019

RTI तेरे टुकड़े होंगे, जब हर घर से राकेश साल्वी जैसा अफजल निकलेगा, 25000/- की पेनाल्टी से प्रायश्चित करेगा माफ़ीनाम भी देगा,

commecial tax department ka afjal guru dhokhebaaj

 भ्रष्ट लोक सेवक का फेसबुक अकाउंट , लिंक क्लिक करे  https://www.facebook.com/salvitou

जबतक ऐसे जैसे  अफजल अधिकारी के रूप में विभाग के अंदर है तब तक कोई कमी नही होगी तकलीफ में जनता को,  बताते फिर रहे फेसबुक पे Asstt commissioner  तेरा असली चेहरा हम दिखा रहे है 

 शर्म के मारे फेसबुक से फोटो डिलीट कर दी, अधिकारी महोदय ने 


राकेश कुमार सालवी जैसे सहायक आयुक्त पदस्थ है वाणिज्य कर विभाग में जो बिल्कुल अफजल की भूमिका में अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हैं,  चलती फिरती ग्रेजुएशन के बाद की बेरोजगारी से थके मांदे जब इनको लोक सेवा आयोग से नौकरी मिल जाती है जब यह संविधान की कसम खाकर के लोक सेवा के इस महत्वपूर्ण पद पर पदस्थ होते हैं , बस वहीं से शुरू होता है, जमीर को बेचने का सिलसिला कल तक जो युवा गली में घूमता फिरता था,  बेरोजगार के जैसे,  जिसको नौकरी मिलते ही बिना ईमान के पूरे महकमे का नाम खराब करना शुरू कर देता है,  यह डिफाल्टर अधिकारी सूट बूट पहन कर अपने आप को सहाआयुक्त समझते हैं और अपने ऑफिस जाते हैं हरामखोरी करने,  गौर से देखिए इन हरामखोर की तस्वीर जो सरकार के पगार तो लेते हैं लोक सेवा करने की और अपने परिवार और कुटुंब  में नाम कमाया बैठे हैं कि यह सरकारी अधिकारी हैं, इनके जैसे चोरों को नौकरी देकर समाज पर बहुत ही बड़ा अफसोस थोपा है  लोक सेवा आयोग ने, जब पढ़े लिखे चयनित लोगो का चरित्र का स्तर इतना गिर सकता है तो ऐसे घिनौने चेहरे बेनकाब भी होने चाहिये जनहित में, रिश्वतखोरी के लिए नौकरी हासिल किये रहे पढ़ लिख के 

हम बात कर रहे हैं राकेश कुमार सालवी की जो वाणिज्य कर विभाग में सहायक आयुक्त के पद पर पदस्थ है इनपे आयुक्त डी.पी. आहूजा की मेहरबानी भी है अभी इनके आयुक्त पर भी काफी कार्यवाहीया लंबित हैं जिनमें वे उत्तर देने की स्थिति में नहीं है, सारी योग्यताएं खत्म हो चुकी हैं, खंडित हो चुकी है, जिनके कारण भी यहीही लोग है

इन महोदय राकेश कुमार सालवी की विवेक बुद्धि की क्षमताओं का अनुमान लगाने में संभवत नियोक्ता के द्वारा गलती हुई है, जिस व्यक्ति को विभाग में चपरासी के पद पर पदस्थ होना चाहिए,  ऐसे व्यक्ति को सहायक आयुक्त के पद पर पदस्थ कर जनता पर एक मानो बोझ  डाल दिया है

एक से एक रजनीकांत है वाणिज्य कर विभाग में जिसमें राष्ट्र स्तर पर नाम कमाने वाला  नारायण मिश्रा भी है जो उपायुक्त के तौर पर पदस्थ है, बहोत ही बड़े स्तर के नपुंसक प्रवत्ति की कुंठित सोच वाले व्यक्ति है,   जिसने  भ्रष्टाचार की  इंतेहा कर रखी है बस इसी इन्तेहा के संबंध में चाही गई जानकारियों (RTI एक्ट में ) की झूठी लिखित जानकारी देने के आरोप में इस अफजल रूपी राकेश सालवी का नाम बड़ा ही खुलकर के सामने आया है, और लोक सूचना आयुक्त ने इन्हें इस बदतमीजी के चलते 25000 के जुर्माने ठोकने की कार्यवाही संधारित की है, और स्वयं उपस्थित होकर के इस मामले में जवाब देने के लिए निर्देशित किया गया है,

वर्तमान में यह बेईमान अधिकारी इंदौर मुख्यालय में पदस्थ है, जहां से इसे अगली दिनांक को उपस्थित होकर के माफीनामा के साथ शास्ति का भुगतान करना है,

यह एक ऐसा शख्स है जिस के पद पर पदस्थ होने के बाद कभी इसके  परिवार ने गर्व किया होगा कि एक घर का सदस्य , महकमे में जाकर घर का नाम रोशन करेगा परंतु उन्हें क्या पता था कि यह वह अफजल है जो जिसे हम अपने घर में पाले हुए थे यह समाज के लिए काम नहीं करता यह समाज के खिलाफ काम करता है यह लोक सेवक नहीं है ये लोक शोषक है,

अभी इसके विरुद्ध बहुत सी कार्रवाई या शेष है, जिसमें इन्हें नौकरी से टर्मिनेट भी किया जा सकता है, फिर सिक्यूरिटी गार्ड की नौकरी दिलवाते है, जबलपुर संभाग में 2 महिला लोक सूचना अधिकारी भी शामिल है, इन प्रपंचो में जिनके विरुद्ध बस एक आदेश पारित होने की देरी है, जल्दी खुलासा होगा इनका भी 

अधिक जानकारी के लिए और पढ़े 
हटा दिया गया लापरवाह आयुक्त वाणिज्यकर IAS पवन कुमार शर्माहुआ डिमोशन
https://www.newsvisionindia.tv/2019/01/mp-finance-ministry-removed-IAS-pawan-sharma.html



No comments:

Post a comment

Pages